मनमोहन सरकार के कुशासन से त्रस्त जनता के जख्मों को कुरेदने से बाज आयें प्रणव मुखर्जी


मनमोहन सरकार के कुशासन से त्रस्त जनता के जख्मों को कुरेदने से बाज आयें प्रणव मुखर्जी
केन्द्रीय बित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी द्वारा कुछ महिनों में मंहगाई पर काबू करने के बयान एक प्रकार से मनमोहन सिंह के कुशासन से त्रस्त देश की आम जनता के जख्मों को कुरेदने वाला शर्मनाक बयान हे। जब जब भी मंहगाई पर मनमोहन सिंह या उनके कबीना मंत्री शरद पवार या प्रणव मुखर्जी बयान देते है, तब तक देश में अचानक कमरतोड़ मंहगाई का तांडव और मच जाता हे। इस लिए देश की जनता का सप्रंग प्रमुख सोनिया गांधी से निवेदन है कि वे व उनकी नक्कारा सरकार देश की जनता को अपने हाल पर छोड़ कर उसके जख्मों पर नमक न छिड़के। आने वाले लोकसभा चुनाव में देश की जनता इस निकम्मी मनमोहन सरकार को देश से उखाड़ फेंकने का खुद काम करेगी।

Comments

Popular posts from this blog

गुरू पूर्णिमा को शंकराचार्य माधवाश्रम जी महाराज का भव्य वंदन

-देशद्रोह से कम नहीं है शिक्षा का निजीकरण