Pages

Tuesday, November 22, 2011

मनमोहन सरकार के कुशासन से त्रस्त जनता के जख्मों को कुरेदने से बाज आयें प्रणव मुखर्जी


मनमोहन सरकार के कुशासन से त्रस्त जनता के जख्मों को कुरेदने से बाज आयें प्रणव मुखर्जी
केन्द्रीय बित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी द्वारा कुछ महिनों में मंहगाई पर काबू करने के बयान एक प्रकार से मनमोहन सिंह के कुशासन से त्रस्त देश की आम जनता के जख्मों को कुरेदने वाला शर्मनाक बयान हे। जब जब भी मंहगाई पर मनमोहन सिंह या उनके कबीना मंत्री शरद पवार या प्रणव मुखर्जी बयान देते है, तब तक देश में अचानक कमरतोड़ मंहगाई का तांडव और मच जाता हे। इस लिए देश की जनता का सप्रंग प्रमुख सोनिया गांधी से निवेदन है कि वे व उनकी नक्कारा सरकार देश की जनता को अपने हाल पर छोड़ कर उसके जख्मों पर नमक न छिड़के। आने वाले लोकसभा चुनाव में देश की जनता इस निकम्मी मनमोहन सरकार को देश से उखाड़ फेंकने का खुद काम करेगी।

No comments:

Post a Comment