भगवान, मानवता व राष्ट्र के प्रति सबसे क्रूर अपराध

जिस देश में अरबों- खरबों लोग बिना घर के खुले आसमान के नीचे  रहने को मजबूर हों, अरबों लोग बिना अन्न के भूखे ही सोने के लिए मजबूर हों, जिस देश में करोड़ों बच्चे गरीबी के कारण शिक्षा, चिकित्सा के लिए तरस रहे हों उस देश में अरबों खरबों रूपये के भव्य मंदिर-मस्जिद आदि धार्मिक स्थल बनाना और अरबों खरबों रूपया केवल चंद दिनों के खेल तमाशों में बर्बाद कर देना भगवान, मानवता व राष्ट्र के प्रति सबसे क्रूर अपराध है।

Comments

  1. yah dharm aur manavta ka majaak hai...yahi paisa yadi in bhukhe bachchon par kharch kiya jaye tou ishwar jayada khush honge....yahi baat samajhane bill gates bhi India aaye hain....

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

>भारत रत्न, अच्चुत सामंत से प्रेरणा ले समाज व सरकार