Pages

Thursday, August 16, 2012


बंगलादेशी घुसपेटियों के संरक्षक बन कर देश में अशांति फेलाने वाले सांसद व नेताओं पर कड़ी कार्यवाही करे सरकार 


असम में बंगलादेशी घुसपेटियों को अंध समर्थन देने के कारण उपजी हिंसा का विरोध करने के बजाय  जिन सांसदों व नेताओं ने समाज में तनाव फैलाने वाली धार्मिक टिप्पणियां या बयान दिये उनके खिलाफ सरकार अभी तक कार्यवाही क्यों नहीं कर रही है? जिन नेताओं ने बंगलादेशी आतंकी घुसपेटियों को देश में शर्मनाक संरक्षण दे रखा है उनके खिलाफ कार्यवाही के साथ पूर्वाेत्तर के छात्रों व कामगारों को पूरे देश में सुरक्षा देने के लिए देश के तमाम राजनैतिक दलों व प्रबुद्ध जनता को आगे आना चाहिए। मनमोहन सरकार इसको दलगत राजनीति से उपर उठ कर राष्ट्र रक्षा के लिए अपने दायित्व के रूप में कार्य करे। जनता भी तमाम प्रकार की अफवाहों को न तो फैलाये व नहीं उस पर कहीं ध्यान दें। पूर्वोत्तर के लोगों को भी इस बात का भरोसा रखना चाहिए कि पूरा राष्ट्र उनके साथ है उनको किसी प्रकार से इन अफवाहों से घबरा कर पूर्वोत्तर की तरफ कूच नहीं करना चाहिए। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व सप्रंग प्रमुख सोनिया गांधी को उन बंगलादेशी घुसपेटियों के संरक्षक बन कर देश में अशांति फेलाने वाले सांसद व नेताओं पर कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए जिससे पूर्वोत्तर के भारतीयों को सुरक्षा का विश्वास लोट सके।

1 comment:

  1. देश के दुश्मन और असामाजिक तत्व इसी फ़िराक में रहते हैं कि देश की अखंडता में कब सेंध मारी जय

    ReplyDelete