अविलम्ब तेलांगना राज्य का गठन हो

अविलम्ब तेलांगना राज्य का गठन हो
ंतेलांगना पृथक राज्य के गठन की पांच दशक से पुरानी मांग को देश के हुक्मरानों द्वारा जबरन दमन व नकारना लोकशाही की निर्मम हत्या करने वाला ही कृत्य है। देश में शासन प्रशासन आम जनता की जनभावनाओं व सहभागेदारी के तौर पर होना चाहिए। देश के राजनैतिक दलों ने अपने संकिर्ण दलगत हितों व अलोकतांत्रिक प्रवृति से लोकशाही को गहरा आघात पंहुचा । ंदेश के हुक्मरानों को लोकशाही का सम्मान करते हुए अविलम्ब तेलांगना राज्य का गठन करना चाहिए।

Comments

Popular posts from this blog

>भारत रत्न, अच्चुत सामंत से प्रेरणा ले समाज व सरकार