Pages

Friday, October 7, 2011

अविलम्ब तेलांगना राज्य का गठन हो

अविलम्ब तेलांगना राज्य का गठन हो
ंतेलांगना पृथक राज्य के गठन की पांच दशक से पुरानी मांग को देश के हुक्मरानों द्वारा जबरन दमन व नकारना लोकशाही की निर्मम हत्या करने वाला ही कृत्य है। देश में शासन प्रशासन आम जनता की जनभावनाओं व सहभागेदारी के तौर पर होना चाहिए। देश के राजनैतिक दलों ने अपने संकिर्ण दलगत हितों व अलोकतांत्रिक प्रवृति से लोकशाही को गहरा आघात पंहुचा । ंदेश के हुक्मरानों को लोकशाही का सम्मान करते हुए अविलम्ब तेलांगना राज्य का गठन करना चाहिए।

No comments:

Post a Comment