Pages

Friday, September 14, 2012


क्यों एक दिन हिन्दी दिवस मनाते

रूस, चीन, जर्मन जापान सव
अपनी भाषा में राजकाज चलाते
फिर मेरे भारत में क्यों अंग्रेजी
स्वतंत्र होने पर भी राज चलाये
देशद्रोह, कलंक भारत के माथे पर
देशी छोड़ विदेशी में राज चलाना।
सारा राज अंग्रेजी में चलाने वालो
क्यों एक दिन हिन्दी दिवस मनाते।
शहीदों की शहादत का है अपमान
देश के स्वाभिमान का है अपमान।
चलता जहां विदेशी भाषा का राज
आजाद नहीं वो गुलाम सेे बदतर
हमे ंबलिदानों से मिली है आजादी
क्यों फिर अंग्रेजी ही राज चलाती।

देवसिंह रावत
www.rawatdevsingh.blogspot.com

No comments:

Post a Comment