शतः शतः वन्दन तुम्हे वीर भगत सिंह


जिन्होंने लड़ी थी जंगे आजादी की, उन्हे देश ने भूला दिया
शहीद हुए जो अमर सैनानी उनके आदर्शो को मिटा दिया
भारतवासी बने नहीं हम, देश जाति धर्म में देश बांट दिया 
लोकतंत्र आज परिवारतंत्र बन, देखो लूटतंत्र ही
 बना दिया
देशहित की परवाह नहीं, ये है अमेरिका के ही अंध भक्त
चंगेजो की तरह देश लुट रहे, जो बने हुए है आज रहनुमा
आजादी के 66 साल बाद भी गुलाम बनी हुई है माॅं भारती
नाम देश का भारत मिटा कर अब बन गया है देश इडिया
भारतीय भाषाओं को दास बना कर राज कर रही है अंग्रेजी
शतः शतः वन्दन तुम्हे वीर भगत सिंह, चन्द्रशेखर, नेता जी
हम दिलायेंगे भारत माॅ को आजादी इंडिया की गुलामी से
उठो जागो, वीर जवानो, माॅं भारती की 125 करोड़ संतानों 


-देवसिंह रावत(भारतीय आजादी के महान नायक अमर शहीद वीर भगतसिंह, सुखदेव व राजगुरू की शहादत की याद में शहीदों की पावन शहादत की स्मृति को शतः शतः नमन् शहीदी दिवस, 23 मार्च 2013 की 11.43 बजे )

Comments

Popular posts from this blog

>भारत रत्न, अच्चुत सामंत से प्रेरणा ले समाज व सरकार