शहादत को शतः शतः प्रणाम


शहादत देने वाले महान सपूत, वतन के लिए मर मिट गये
पर खुदगर्ज हुक्मरान आज, दो टके के लिए वतन बेच गये 








आज शहीदे आजम भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव का शहीदी दिवस है। शहीदों की पावन शहादत को शतः शतः प्रणाम। आज ही के दिन 23 मार्च  1931 में इन तीन महान सपूतों ने देश की आजादी के लिए फिरंगी सम्राज्य के खिलाफ खुली जंग छेडने के आरोप में फांसी दे दी गयी थी.। परन्तु आज आजादी के बाद देश के हुक्मरानों ने अपनी कुर्सी व दो टके के खातिर देश को भ्रष्टाचार, आतंकवाद के गर्त में धकेल दिया है।

Comments

Popular posts from this blog

>भारत रत्न, अच्चुत सामंत से प्रेरणा ले समाज व सरकार