Pages

Thursday, February 16, 2012

उत्तराखण्ड में उप मुख्यमंत्री पद बनाना अव्यवहारिक व अनावश्यक है

उत्तर प्रदेश जेसे बडे राज्य में भी उप मुख्यमंत्री नहीं बनाये जाते । फिर उत्तराखण्ड जैसे छोटे व विकास के लिए तरसते हुए राज्य में उप मुख्यमंत्री पद बनाना अव्यवहारिक व अनावश्यक है। ऐसे खबरों को न कान दें व न प्रचार करें। इनकी बात पर प्रतिक्रिया करना ही इनकी मंशा को हवा देना है। प्रदेश में ऐसे कोई नेता नहीं चाहिए जो क्षेत्र, जाति व धर्म के नाम पर राजनीति करें व प्रदेश के शासन व भविष्य को तबाह करे। उत्तराखण्ड के लोगों ने उत्तराखण्ड राज्य की मांग की किसी को प्रदेश लूटने के लिए राजनीति करने के लिए। जिनको गैरसैंण राजधानी बनाने से वहां पर सुविधाओं का अभाव लगता है उनकी उत्तराखण्ड की राजनीति व शासन में एक पल की भी जरूरत नहीं है। उत्तराखण्ड के मूल हितों के खिलाफ क्षेत्रवाद व जातिवाद तथा दलगत की अंध समर्थन करने वाले उत्तराखण्ड में एक इंच भी जगह नहीं है। वे माफ करें उत्तराखण्ड को।

No comments:

Post a Comment