देश डूबा दामिनी के शोक में पर चैन्नई में देश के दुश्मन पाक से क्रिकेट मैच का तमाशा क्यों?


बहुत दुख की बात है कि जब पूरा देश दामिनी की मौत पर शोक मना रहा है। वहीं भारत के दिशाहीन सरकार देश के स्वाभिमान व अखण्डता को दशकों से रौंदने वाले पाकिस्तान से चैन्नई में मैच खेल रहा है। सरकार व क्रिकेट के रहनुमाओं को जरा शर्म करो। देश के जज्बातों से खिलवाड बंद करो। मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि जब पूरा देश विलख रहा है तो देश के हुकमरानों व इस पाक से खेले जा रहे इस राष्ट्रघाति क्रिकेट मैच को खेलने का क्या औचित्य है। सरकार में अगर जरा सी भी शर्म होती या देश के प्रति जरा सा भी सम्मान व प्रेम होता तो वह पाक से तब तक मैच नहीं खेलती जब तक वह अपने भारत को तबाह करने वाले नापाक इरादों को बंद नहीं कर देता। वेसे भी आज जब पूरा देश दामिनी के शोक में डूबा हुआ है। उसका अंतिम संस्कार 30 दिसम्बर की प्रातः हुआ। इस दिन जश्न का प्रतीक क्रिकेट मैच का आयोजन क्यों? जितने लोग अगर इस मैच देखने जाते है या घरों में देखते हैं उतने अगर जनहित व राष्ट्रहित में लगे रहते या सरकार के गलत कामों के खिलाफ सडकों पर उतरते तो भारत कबका विश्व की महान शक्ति ही नहीं जगतगुरू फिर से बन जाता। देश में कोई बेरोजगार व कुशासक नहीं रहता।
 

Comments

Popular posts from this blog

गुरू पूर्णिमा को शंकराचार्य माधवाश्रम जी महाराज का भव्य वंदन

-देशद्रोह से कम नहीं है शिक्षा का निजीकरण