अब किस पर विश्वास करे भारत

तुम राम कृष्ण की बात करके देश का जागरण करते थे
भारत माॅं की दुहाई दे कर देश की रक्षा की बात करते थे 
पर देश दंग रह गया देख तुम्है भी छदमी टोपी पहने हुए
धर्मान्तरण की चाबी आरक्षण को खुले हाथों से सौंपते हुए 
अब करे विश्वास किस पर भारत, इन कालनेमियों को देख
कोई कलंक विध्वंश पर आंसू बहाये कोई जिन्ना को पूजे
हिन्दी हिन्दू हिन्दुस्तान गाने वाले भी इंडिया राईजिंग गाये
कोई गांधी के नाम से लूटेे कोई राम कृष्ण को नकली कहे
कोई जनसेवक बन गो गंगा व भारत को मिटाने का काम करे।
-देवसिंह रावत
(13 मई 2011 रात के 11.52 मिनट पर )

Comments

Popular posts from this blog

>भारत रत्न, अच्चुत सामंत से प्रेरणा ले समाज व सरकार