Pages

Friday, May 4, 2012


शेना अग्रवाल ने सिविल सर्विसिज परीक्षा में हासिल किया सर्वोच्च स्थान, 

उत्तराखण्ड के मंगेंश कुमार ने हासिल किया चोथा स्थान


नई दिल्ली (प्याउ)। देश की सबसे प्रतिष्ठित सेवा के लिए आयोजित संघ लोकसेवा आयोग की सिविल सेवा सर्विसिज-2011 की परीक्षा में हरियाणा की यमुनानगर निवासी शेना अग्रवाल ने 472290 आवेदकों में से सर्वोच्च स्थान अर्जित किया। वहीं दूसरे स्थान पर मुम्बई की रूकमणी रेयार, तीसरे स्थान पर प्रिंस धवन रहे। इस साल उत्तराखण्ड के पौड़ी जनपद के टांडिया (धूमाकोट) गांव के निवासी मंगेश कुमार घिल्डियाल ने चोथा स्थान हासिल कर पूरे प्रदेश को गौरवान्वित किया। गौरतलब है कि गत वर्ष की सिविल सेवा परीक्षा में भी मंगेश कुमार ने 131 वें स्थान हासिल कर यह परीक्षा पास की थी, परन्तु उनको चयन 131 रेंक होने के कारण उनकी पहली पसंद की आईएएस यानी प्रशासनिक सेवा के बजाय भारतीय पुलिस सेवा यानी आईपीएस के लिए हुआ। वे वर्तमान में आईपीएस का प्रशिक्षण गत वर्ष दिसम्बर से हेदराबाद में ले रहे है। मंगेश कुमार के पिता बृजमोहन घिल्डियाल पेशे से शिक्षिक है। गौरतलब है कि प्रतिभाशाली मंगेश कुमार का गत वर्ष रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की परीक्षा भी उतीर्ण की थी परन्तु उनका लक्ष्य केवल भारतीय प्रशासनिक सेवा में सम्मलित होना था। उनकी इस साल की सफलता की खबर सुन कर पूरे उत्तराखण्ड में खुशी की लहर छा गयी। इस साल प्रथम दोनों स्थान पर महिलाओं द्वारा गौरवान्वित किया गया। गौरतलब है कि गत वर्ष भी सिविल सर्विसेज- 2010 की परीक्षा में चेन्नै की लॉ ग्रैजुएट एस. दिव्यदर्शिनी ने टॉप किया था, जबकि कंप्यूटर इंजिनियर स्वेता मोहंती दूसरे नंबर पर रही थीं।
मंगेश कुमार के अलावा कई प्रतिभाशाली परीक्षार्थियों ने भी उत्तराखण्ड का नाम रोशन किया। इसमें एक नाम है देहरादून की नेहा नौटियाल का जिन्हें इस परीक्षा में 185वीं रैंक हासिल हुआ।
देश में स्थाई सरकार के नाम पर ख्यातिप्राप्त नौकरशाही के चयन के लिए आयोजित संघ लोकसेवा आयोग की सिविल सेवा सर्विसिज-2011 की परीक्षा में इस बार कुल 4,72,290 आवेदक थे। इनमें से 2,43,003 ने शुरुआती लिखित परीक्षा दी। इस परीक्षा के आधार पर 11,984 उम्मीदवारों को मुख्य लिखित परीक्षा के लिए बुलाया गया। इनमें से 2,417 आवेदक इंटरव्यू के लिए बुलाए गए। आखिरकार, इनमें से 910 प्रत्याशियों को सिविल सेवाओं (आईएफएस, आईएएस, आईपीएस वगैरह) के लिए चुन लिया गया। इनमें 715 लड़के हैं और 195 लड़कियां।

No comments:

Post a Comment