Pages

Tuesday, April 24, 2012


गंगोत्री से विधानसभा चुनाव लड सकते हैं बहुगुणा

देहरादून (प्याउ)। प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा कहां से विधानसभा चुनाव लडेंगे। इस पर पूरे प्रदेश के राजनेताओं की टकटकी लगी हुई है। पक्ष व विपक्ष उनके इसी निर्णय के आधार पर अपनी राजनीति की भावी कदम उठाने के लिए रणनीति का तानाबाना बुन रहे है। सुत्रों के अनुसार वे पहले सहजपुर सीट से चुनाव मैदान में उतरने का मन बना रहे थे परन्तु वहां की वर्तमान राजनैतिक स्थिति अनुकुल न होने से उन्होंने अपना पूरा ध्यान सीमान्त जनपद उत्तरकाशी के गंगोत्री विधानसभा पर लगा दिया है। इसके लिए वे वहां पर अपनी स्थिति अनकुल बनाने के लिए विकास की कई महत्वपूर्ण घोषणायें भी कर रहे हैं व करने वाले है। इसी दिशा में बहुगुणा सरकार ने  यमुनोत्री घाटी की तरह गंगोत्री क्षेत्र को भी ओबीसी की श्रेणी में सूचिबद्ध करने का महत्वपूर्ण निर्णय लेने का भी मन बना लिया हे। इसके साथ जिस प्रकार से विजय बहुगुणा लुहारी नागपाला आदि जल विद्युत  परियोजनाओं को फिर से शुरू करने जैसे कदम उठाने की रणनीति बना ली है उससे साफ है कि वे हर हाल में  गंगोत्री घाटी की जनता का दिल जीतना चाहते है।  सीमान्त जनपद उत्तरकाशी  के गंगोत्री विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के विधानसभा चुनाव में उतरने की अटकले लगाये के बीच प्रदेश की बहुगुणा सरकार ने उत्तरकाशी जिले के यमुनोत्री धाम मार्ग पर स्थित चिन्यालीसौड़ विकासखण्ड के तहत चिन्यालीसौड़ को नगर पंचायत का दर्जा देने की अधिसूचना जारी करवा कर पूरे जनपद में अपने लिए अनकुल माहोल बना रहे है। हालांकि यह क्षेत्र सीधे गंगोत्री विधानसभा सीट मे ंनहीं आता फिर भी आसपास के क्षेत्र में भी विजय बहुगुणा अपने लिए अनकुल माहौल बनाने में जुटे हुए है।   प्रदेश शासन की ओर से अपर सचिव शहरी विकास राधिका झा ने इस बाबत अधिसूचना जारी कर दी है।  नगर पंचायत चिन्यालीसौड़ में बड़ेथी (बिष्ट) ग्राम पंचायत के राजस्व ग्राम का पूरा बड़ेथी ग्राम, ग्राम पंचायत नागणी बड़ी के नागणी बड़ी राजस्व ग्राम के नागणी बड़ी व धनपुर ग्राम और चिन्याली ग्राम पंचायत को शामिल किया गया है। गौरतलब है कि चिन्यालीसौड़ को नगर पंचायत बनाने की मांग लम्बे समय से की जा रही थी। सरकार के इस कदम से जहां इस मांग से जुड़े समाजसेवियों में खुशी की लहर फेल गयी।
गंगोत्री क्षेत्र विजय बहुगुणा के लिए अन्य क्षेत्रों से काफी सुरक्षित महसूस हो रहा है। वहीं सीमान्त जनपद के निवासी व देश के अग्रणी पत्रकार विजेन्द्र रावत के अनुसार अगर विजय बहुगुणा गंगोत्री क्षेत्र को ओबीसी  क्षेत्र यमुनोत्री की तरह बना देते हैं तो यह क्षेत्र उनके लिए काफी सुरक्षित होगा। हालांकि इसके बाबजूद विजय बहुगुणा के समर्थक उनको पर्वतीय क्षेत्र से चुनाव लडने का जोखिम न लेने की सलाह दे रहे है। उनको आशंका है कि वे भी इन क्षेत्रों में खंडूडी की तरह हार का मुह देख सकते हे। इसलिए उनको देहरादून को छोड कर कहीं दूसरी जगह चुनाव न लडने की सलाह दे रहे है।

No comments:

Post a Comment