Pages

Thursday, April 5, 2012

हो हर दिन ऐसी शुभ प्रभात प्रभु


हो हर दिन ऐसी शुभ प्रभात प्रभु




जय जय जय श्रीकृष्ण कन्हैया,
जय जगतारक राम रमैया,
जय सिया राम चरण अनुरागी,
जय पवनपुत्र बजरंगबली।।
जय हरि हर बदरी केदारवासी,
 जय जगजननी मातु भवानी।
जय नरसिंह महाकाल भैरव,
 जय पतित पावनी गंगा यमुना।
जय देवभूमि जय भारत माता
जय दिव्य अमर ज्ञान का दाता।
हो हर दिन ऐसी शुभ प्रभात प्रभु
जग में ज्ञान प्रेम की बहे गंगा।
देवसिंह रावत
(शुक्रवार 6 अप्रैल 2012 प्रातः 7बज कर 37 मिनट)

No comments:

Post a Comment