जहां सत्य, धर्म पर चलने वाले भी
अन्यायी को पोषण करते हैं
वही भीष्म, कर्ण, द्रोणाचार्य जेसे भी
कुरूक्षेत्र में मरते रहते है।।

-देवसिंह रावत

Comments

Popular posts from this blog

>भारत रत्न, अच्चुत सामंत से प्रेरणा ले समाज व सरकार